Delhi, Friday, June 21, 2024 A.D

भाजपा के राष्ट्रीय अधिवेशन में बोले PM मोदी, कहा- सत्ता भोग के लिए नहीं मांग रहा तीसरा टर्म

NewsPaper

NewsPaper

published: 18 February, 2024, 04:56 PM

National
भाजपा के राष्ट्रीय अधिवेशन में बोले PM मोदी, कहा- सत्ता भोग के लिए नहीं मांग रहा तीसरा टर्म
National

नई दिल्ली: भाजपा के राष्ट्रीय अधिवेशन को पीएम मोदी ने संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि भाजपा कार्यकर्ताओं की निष्ठा और समर्पण से हमें जनता-जनार्दन का भरपूर आशीर्वाद मिल रहा है। 2024 में तीसरी बार सरकार बनाकर हम जनसेवा और राष्ट्र सेवा का अप्रतिम इतिहास रचने जा रहे हैं। हमें सबका विश्वास हासिल करना है। जब सबका प्रयास होगा तो देश की सेवा के लिए सबसे ज्यादा सीटें बीजेपी को ही मिलेगी ।बीजेपी के कार्यकर्ता सत्ता में रहने के बाद भी समाज के लिए इतना करते हैं, दिन रात दौड़ते हैं, सिर्फ और सिर्फ भारत माता की जय के लिए करते हैं। भाजपा का कार्यकर्ता साल के हर दिन देश की सेवा के लिए कुछ न कुछ करता ही रहता है, लेकिन अब अगले 100 दिन नई ऊर्जा, नया उमंग, नया उत्साह, नया विश्वास, नए जोश के साथ काम करने का है।

पीएम मोदी ने कहा कि पिछले 10 सालों में भारत ने जो गति पाई है ये दुनिया गाजे-बाजे के साथ बोल रही है। हर क्षेत्र में ऊंचाई हासिल की है, एक बड़े संकल्प के साथ जोड़ दिया है, ये संकल्प है विकसित भारत का। ये हमारा सपना भी है हमें भारत को विकसित बनाना है। इसमें अगले 5 सालों की बहुत बड़ी भूमिका होने जा रही है, पहले से कई गुना तेजी से काम करना है। आज विपक्ष के नेता भी NDA सरकार 400 पार के नारे लगा रहे हैं। NDA को 400 पार कराने के लिए भाजपा को 370 का मील का पत्थर पार करना ही होगा। पूरा देश मानता है कि 10 साल का बेदाग कार्यकाल और 25 करोड़ लोगों को गरीबी से बाहर निकालना समान्य उपलब्धि नहीं। हम इस देश को महाघोटालों और आतंक से मुक्ति दिलाई है, गरीब का जीवन बेहतर करने का प्रयास किया है।

पीएम मोदी ने आगे कहा कि हम राजनीति के लिए नहीं राष्ट्रनीति के लिए निकले हैं। जिन लोगों को किसी ने नहीं पूछा, हमने उन्हें सिर्फ पूछा ही नहीं बल्कि उन्हें पूजा भी है। भारत ने आज हर क्षेत्र में जो ऊंचाई हासिल की है, उसने हर देशवासी को एक बड़े संकल्प के साथ जोड़ दिया है। ये संकल्प है विकसित भारत का। अब देश न छोटे सपनें देख सकता है और न ही छोटे संकल्प ले सकता है। अब सपनें भी विराट होंगे और संकल्प भी विराट होंगे। ये हमारा सपना भी है और संकल्प भी है कि हमे भारत को विकसित बनाना है। हम तो छत्रपति शिवाजी को मानने वाले लोग हैं। जब छत्रपति शिवाजी महाराज का राज्याभिषेक हुआ तो उन्होंने ये नहीं किया कि सत्ता मिल गई तो चलो उसका आनंद लो। उन्होंने अपना मिशन जारी रखा। मैं अपने सुख वैभव के लिए जीने वाला व्यक्ति नहीं हूं। मैं बीजेपी सरकार का तीसरा टर्म, सत्ता भोग के लिए नहीं मांग रहा हूं। मैं राष्ट्र का संकल्प लेकर निकला हुआ व्यक्ति हूं।

 

National

National Related News